by Acharya Bhramdev Ji
Kathapravachan.com

ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं | भर्गो देवस्यः धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात् ||

गायत्री मंत्र (वेद ग्रंथ की माता) को हिन्दू धर्म में सबसे उत्तम मंत्र माना जाता है. यह मंत्र हमें ज्ञान प्रदान करता है. इस मंत्र का मतलब है - हे प्रभु, क्रिपा करके हमारी बुद्धि को उजाला प्रदान कीजिये और हमें धर्म का सही रास्ता दिखाईये. यह मंत्र सूर्य देवता (सवितुर) के लिये प्रार्थना रूप से भी माना जाता है.हे प्रभु! आप हमारे जीवन के दाता हैं आप हमारे दुख़ और दर्द का निवारण करने वाले हैं आप हमें सुख़ और शांति प्रदान करने वाले हैं हे संसार के विधाता हमें शक्ति दो कि हम आपकी उज्जवल शक्ति प्राप्त कर सकें क्रिपा करके हमारी बुद्धि को सही रास्ता दिखायें

open close
Blessings:

भक्ति कैसे करे ?  SomeTimes People complaint that vedas are in sanskrit and we could... Read more

Blessings:

The Vedas The Vedas are a large body of texts originating in ancient India. Composed... Read more

Blessings:

Shri mad Bhagwat Gita Bhagavad- Gita is the divine discourse spoken by the Supreme Lord... Read more

August, 14, 2015. 08:13 AM
Shree mad Bhagwat Gita
August, 14, 2015. 08:21 AM
what is vedas
August, 14, 2015. 09:01 AM
Bhakti Kaise Kare ?
all info about vedas

Vedic Pravachan

secrets of Shri Bhagwat Gita

Gita PravachanAll articles from photo category

Pravachan by Acharya Ji

Satsang

Recent
Popular
Comments
Join the Acharya Ji on Facebook

Acharya ji on Facebook

by Aacharya Ji

Pravachan OF THE DAY

Small block description

BLOG TAGS